Latest Posts

Thursday, 12 September 2019

Thursday, September 12, 2019

Kurukshetra Magazine pdf Free Downlaod (Hindi & English) 2019-2020

Kurukshetra Magazine (कुरुक्षेत्र पत्रिका) भारत सरकार द्वारा प्रकाशित एक मासिक पत्रिका है, जिसके परिणामस्वरूप आप किसी मुद्दे पर सरकार का दृष्टिकोण देखते हैं। 
Kurukshetra Magazine pdf Free Downlaod (Hindi & English)
आपको (Kurukshetra Magazine) कुरुक्षेत्र पत्रिका क्यों पढ़नी चाहिए? 
  1. कुरुक्षेत्र पत्रिका मुद्दों पर सरकार का दृष्टिकोण प्रस्तुत करती है और उसी के लिए डाटा और विश्लेषण भी प्रदान करती है। 

  2. कुरुक्षेत्र पढ़ने से आपको निबंध लेखन में मदद मिलेगी क्योंकि ये पत्रिकाएँ विविध पृष्ठभूमि के विभिन्न लोगों द्वारा प्रत्येक विषय को कई दृष्टिकोणों से विश्लेषण करती हैं।

  3.  कुरुक्षेत्र एक मासिक पत्रिका है और मुख्य रूप से सामान्य अध्ययन के लिए मुख्य पाठ्यक्रम का एक अच्छा हिस्सा शामिल है। 

  4. आप हाल ही में लॉन्च की गई सरकारी योजनाओं, सरकार की पहल, नीतिगत पहल आदि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। 

Kurukshetra Magazine  (कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका Hindi & English PDF Download 

दोस्तों आज Sarkari Naukri pdf, Current Affairs प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित बहुत ही महत्वपूर्ण मासिक पत्रिका “कुरुक्षेत्र मासिक करंट अफेयर्स पत्रिका का PDF Magazine शेयर कर रहा है. जो छात्र UPSC, IAS, SSC, Civil Services, PCS, Bank Exam या अन्य Competitive Exams की तैयारी कर रहे है, वे छात्र ‘कुरुक्षेत्र हिंदी मासिक पत्रिका’ का PDF Free Download कर सकते है.

कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका जनवरी 2019 का मुख्य अंश:
  • ग्रामीण युवाओं का सशक्तिकरण

  • कौशल के माध्यम से युवाओं का सशक्तिकरण

  • ग्रामीण युवाओं की पहल की शिक्षा

  • ग्रामीण युवाओं की नाबार्ड निर्माण क्षमता

  • Surya Mitra के माध्यम से कुशल युवा

  • ग्रामीण युवाओं को सशक्त बनाने के लिए आई.सी.टी.

  • स्वच्छता: the Journey So Far
Download Kurukshetra Magazine PDF in English January 2019

Download Kurukshetra Magazine PDF in Hindi January 2019

कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका फरवरी 2019 का मुख्य अंश:
  • कृषि में विकास का नया आयाम

  • 2022 तक किसान की आय दोगुनी करना

  • किसान की आय बढ़ाने के लिए नई ख़रीद नीति

  • कृषि के लिए संस्थागत ऋण

  • कृषि विकास के लिए सूक्ष्म सिंचाई

  • भंडारण और विपणन को सुव्यवस्थित करना

  • कृषि व्यवसाय के माध्यम से कृषि को बढ़ावा देना
Download Kurukshetra Magazine PDF in English February 2019

Download Kurukshetra Magazine PDF in Hindi February 2019

कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका मार्च 2019 का मुख्य अंश:
  • अंतरिम बजट 2019-20: ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर बल

  • ग्रामीण विकास का आधार कृषि

  • सतत कृषि विकास का लक्ष्य

  • आर्थिक सुरक्षा के लिए वित्तीय समावेशन

  • ग्रामीण युवा सशक्तिकरण के लिए पहल

  • महिला और बाल स्वास्थ्य एवं पोषण

  • ग्रामीण स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली

  • ग्रामीण अवसंरचना विकास

  • डिजिटल होता ग्रामीण भारत

  • विधुतीकृत गाँव- पॉवर सरप्लस भारत

  • जागरूकता में बदली स्वक्षता
Download Kurukshetra Magazine PDF in English March 2019

Download Kurukshetra Magazine PDF in Hindi March 2019

कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका अप्रैल 2019 का मुख्य अंश:
  • ग्रामीण पर्यटन - भारत की विरासत को दर्शाना 

  • ग्रामीण पर्यटन के सामाजिक-संस्कृति प्रभाव

  • ग्रामीण टूरिज़्म को बढ़ावा देना 

  • आजीविका और संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए ईकोटूरिज्म

  • ग्रामीण स्थायी पर्यटन

  • कृषि-पर्यटन: क्षमता और चुनौती

  • ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर ग्रामीण पर्यटन का प्रभाव

  • ग्रामीण पर्यटन के लाभ

  • उत्तर पूर्व में ग्रामीण पर्यटन की संभावनाएं
Download Kurukshetra Magazine PDF in English April 2019

Download Kurukshetra Magazine PDF in Hindi April 2019

कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका मई 2019 का मुख्य अंश:
  • सतत कृषि विकास में जैविक खेती की भूमिका

  • भारत में जैविक प्रमाणीकरण एवं विपणन

  • जैविक खेती से फल उत्पादन की संभावनाएं

  • सब्जियों की जैविक खेती

  • जैविक खेती के लिए पोषक तत्व प्रबंधन

  • जैविक खेती की उन्नत तकनीकें

  • जैविक खेती के स्वास्थ्य और पर्यावरणीय लाभ

  • जैविक खेती द्वारा खाद्यान्न फ़सलों का रोग प्रबंधन

  • उत्तर-पूर्व में जैविक खेती का अवलोकन

  • जैविक खेती में महिलाओं की भागीदारी
Download Kurukshetra Magazine PDF in English May 2019

Download Kurukshetra Magazine PDF in Hindi May  2019

कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका जून 2019 का मुख्य अंश: 
  • गाँवों में सुरक्षित पेयजल का लक्ष्य

  • पेयजल संसाधनों के रखरखाव में सामुदायिक भागीदारी

  • पेयजल आपूर्ति में उपयुक्त तकनीक और नवाचार की भूमिका

  • पेयजल और सार्वजनिक स्वास्थ्य तक सबकी पहुँच

  • गाँवों में पेयजल की आपूर्ति हेतु वैकल्पिक जल-संसाधनों की तलाश

  • वर्षा जल संचयन पानी की समस्या का बेहतर समाधान

  • विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून 2019

  • भारत में सतत जल आपूर्ति प्रबंधन: चुनौतियाँ और समाधान

  • ग्रामीण पेयजल आपूर्ति का आधार भूत ढाँचा:निगरानी, संचालन और रखरखाव

  • गाँवो में पारंपरिक जल संचयन प्रणाली कारगार उपाय

  • बुनाई उद्योग को पुनर्जीवित करने में मददगार बने शौचालाय

  • वर्मी बयोडाईस्टर: जल प्रदुषण रोकने का संभावित समाधान

  • स्वस्थ जीवन के लिए योग

  • योग के विविध आयाम

  • विश्व पुस्तक दिवस 2019

  • आबू धाबी विश्व पुस्तक मेला-2019
Download Kurukshetra Magazine PDF in English June 2019

Download Kurukshetra Magazine PDF in Hindi June 2019

कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका जुलाई  2019 का मुख्य अंश:
  • भारत में गैर-कृषि क्षेत्र

  • रोजगार सृजन के लिए गैर-कृषि क्षेत्र

  • ग्रामीण पर्यटन: गैर कृषि क्षेत्र के लिए एक परिसंपत्ति

  • गैर-कृषि क्षेत्र में गैर सरकारी संगठन और निजी क्षेत्र

  • हथकरघा और हस्तशिल्प: गैर-कृषि क्षेत्र में संभावित नियोक्ता

  • गैर-कृषि क्षेत्र के लिए खाद्य प्रसंस्करण

  • स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण): मिशन का अनुवाद माइलस्टोन में

  • स्वच्छ सफलता की कहानी: उडुपी में एकीकृत और स्थायी एसएलआरएम

  • पूर्वोत्तर भारत में गैर-कृषि क्षेत्र
Download Kurukshetra Magazine PDF in English July 2019

Download Kurukshetra Magazine PDF in Hindi July 2019

कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका अगस्त 2019 का मुख्य अंश:

Download Kurukshetra Magazine PDF in English August 2019

कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका सितम्बर 2019 का मुख्य अंश:

Download Kurukshetra Magazine PDF in English September 2019

ज़रुर पढ़ें :– दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या eBook की आपको आवश्यकता है तो आप नीचे comment कर सकते है| आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार कोई सहायता चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे|

Disclaimer: Sarkari Naukri pdf does not own this book, neither created nor scanned. We just provide the link already available on the internet. If any way it violates the law or has any issues then kindly mail us: sarkarinaukripdf@gmail.com

Sunday, 1 September 2019

Sunday, September 01, 2019

Indian economy questions and answers in Hindi

indian economy questions and answers in hindi

दोस्तों जैसा की आप सभी जानते हैं की प्रतियोगी परीक्षाओं में Indian Economy Subject से कुछ प्रश्न हमेशा से ही पूछे जाते रहे हैं। इसलिए आज हम आपके लिए Indian Economy Objective Questions and Answers की एक Series लेकर आए हैं जिससे आप Indian Economy के बहुविकल्पी (Object Question) की तैयारी कर सकते हैं।

प्रश्न 1. सबसे पहले उपभोक्ता अधिकारों की घोषणा किस देश में हुई थी ?

क. ऑस्ट्रेलिया

ख. चीन

ग. जापान

घ. संयुक्त राज्य अमेरिका

उत्तर: घ. संयुक्त राज्य अमेरिका

प्रश्न 2. नई मुद्रा यूरो किस वर्ष में प्रारंभ की गई थी?

क. 1954 में

ख. 1958 में

ग. 1999 में

घ. 2004 में

उत्तर: ग. 1999 में

प्रश्न 3. निम्नलिखित में से किसकी दृष्टि से भारतीय अर्थव्यवस्था में कुटीर तथा लघु उद्योग आवश्यक है ?

क. अल्प लागत

ख. रोजगार सृजन

ग. आय सृजन

घ. इनमें से कोई नहीं

उत्तर: ख. रोजगार सृजन

प्रश्न 4. बम्बई स्टॉक एक्सचेन्ज की स्थापना कब हुई थीं?

क. 1952 ई.

ख. 1862 ई.

ग. 1875 ई.

घ. 1963 ई.

उत्तर: ग. 1875 ई.

प्रश्न 5. औद्योगिक एवं वित्तीय विनिमय बोर्ड की स्थापना कब की गई थी?

क. 1954

ख. 1932

ग. 1992

घ. 1997

उत्तर: ग. 1992

प्रश्न 6. सरकार द्वारा पुरानी मुद्रा को समाप्त कर नई मुद्रा चलाना क्या कहलाता है ?

क. विमुद्रीकरण

ख. मुद्रा संकुचन

ग. अवमूल्यन

घ. माल्थस

उत्तर: क. विमुद्रीकरण

प्रश्न 7. प्रथम क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक की स्थापना किस वर्ष की गई थी?

क. 1997 में

ख. 1975 में

ग. 1956 में

घ. 1854 में

उत्तर: ख. 1975 में

प्रश्न 8. किस वर्ष नाबार्ड की स्थापना हुई थी?

क. 1952 में

ख. 1856 में

ग. 1956 में

घ. 1982 में

उत्तर: घ. 1982 में

प्रश्न 9. किसी अर्थव्यवस्था में मुद्रा के मूल्य और कीमत स्तर के बीच सम्बन्ध ___ होता है ?

क. अनुलोम

ख. स्थिर

ग. प्रतिलोम

घ. इनमें से कोई नहीं

उत्तर: ग. प्रतिलोम

प्रश्न 10. नारियल उत्पादन के मामले में, विश्व में पहला स्थान किस देश का हैं ?

क. इंडोनेशिया

ख. भारत

ग. श्रीलंका

घ. बांग्लादेश

उत्तर: क. इंडोनेशिया

प्रश्न 11 .भारत में सबसे संपत्ति वाला राज्य कौन हैं ?

(A) तमिल नाडु

(B) महाराष्ट्र

(C) केरला

(D) कर्नाटक

Ans.  B

प्रश्न 12 .भारत का कितना % आबादी कृषि उद्योग पर निर्भर हैं ?

(A) 60%

(B) 70%

(C) 58.9%

(D) अन्य

Ans.  C

प्रश्न 13. राष्ट्रीय पधार्थ से सकल लाभ में कितना % कृषि उद्योग का योगदान है ?

(A) 17.5 %

(B) 17.9 %

(C) 20 %

(D) अन्य

Ans.  A

प्रश्न 14. GDP के आधार पर भारत का स्थान है ?

(A) 5

(B) 3

(C) 7

(D) 13

C

प्रश्न 15. ppp (Purchasing Power Parity) के आधार पर भारत का स्थान है ?

(A) 4

(B) 9

(C) 7

(D) 3

Ans.  D

प्रश्न 16.  GDP पर कैपिटा के आधार पर सबसे पहले स्थान पर कौन सा देश है ?

(A) लक्जमबर्ग

(B) संयुक्त राज्य अमेरिका

(C) क़तर

(D) अन्य

Ans.  C

प्रश्न 17. भारत में उच्चतम मानव विकास सूचकांक(HDI) किस राज्य में है ?

(A) गुजरात

(B) केरल

(क्य ) तमिलनाडु

(D) महाराष्ट्र

Ans.  B

प्रश्न 18. निम्न में कौन-से देश में मिश्रित अर्थव्यवस्था है ?

(A) अमेरिका

(B) भारत

(C) चीन

(D )रूस

Ans.  B

यह पत्रिका उन सभी विध्यार्थियों के लिए महत्वपूर्ण है जो की SSC, Railway, UPSC, UPSSSC जैसे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं क्योंकि इन सभी परीक्षाओं में Indian Economy Subject से सबसे अधिक प्रश्न पूछे जाते हैं।

Indian Economy (भारतीय अर्थव्यवस्था ) Objective Questions and Answers PDF Download in Hindi

Name of eBook: Indian Economy Objective Questions and Answers

Number of Pages: 10

Quality of Pages: Excellent

Format: PDF File

File Size: 6.09 MB

Sharing Credit: Rahul Sharma

Language: Hindi

Author: Rahul Sharma


Note आशा है की आप सभी को Indian economy questions and answers in Hindi pdf आपके परीक्षा के लिए उपयोगी साबित होगी |

Friends, if you need an eBook related to any topic. Or if you want any information about any exam, please comment on it. Share this post with your friends on social media. To get daily information about our post please like my Facebook page. You can also join our Facebook group.

ज़रुर पढ़ें :– दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या eBook की आपको आवश्यकता है तो आप नीचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार की help चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे.

Disclaimer: sarkari Naukri pdf does not own this book, neither created nor scanned. We just provide the link already available on the internet. If any way it violates the law or has any issues then kindly mail us: sarkarinaukripdf@gmail.com
Sunday, September 01, 2019

भारतीय अर्थव्यवस्था की विशेषताएं ( संरचना ) Features of Indian Economy inHindi

भारतीय अर्थव्यवस्था की विशेषताएं ( संरचना ) Features of Indian Economy in Hindi

Dear Friends, आज के अपने इस लेख में मैं आपको भारतीय अर्थव्यवस्था की विशेषताएँ ( संरचना ) Features of Indian Economy in Hindi pdf उपलब्ध करवाने जा रहा हूँ| यह pdf प्रतियोगिता परीक्षा को crack करने में आप सभी students के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साबित हो सकती है| वैसे भी अभ्यर्थियों के लिए यह चुनाव करना बहुत मुश्किल रहता है कि सबसे बढ़िया study PDF या materials उन्हें कहा से प्राप्त हो सकता है तो हमारा इस वेबसाइट बनाने का मुख्य उद्देश्य ही आप सभी को best study PDF/materials उपलब्ध करवाना है |

भारत की अर्थव्यवस्था (Economy of India)

भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। यह क्षेत्रफल की दृष्टि से दुनिया में सातवें स्थान पर है, आबादी में इसका दूसरा स्थान है और भारत केवल 2.6% क्षेत्र के साथ दुनिया की 14% आबादी को शरण देता है।

1919 से भारत में तेजी से आर्थिक प्रगति हुई है, जब उदारीकरण और आर्थिक सुधारों की नीति लागू की गई है और भारत दुनिया की आर्थिक महाशक्ति के रूप में उभरा है। सुधारों से पहले, सरकारी नियंत्रण मुख्य रूप से भारतीय उद्योगों और व्यापार पर हावी था और सुधारों को लागू करने से पहले इसका कड़ा विरोध किया गया था, लेकिन आर्थिक सुधारों के अच्छे परिणामों के कारण, विरोध काफी हद तक कम हो गया है। हालांकि, एक बड़ा वर्ग अभी भी बुनियादी ढांचे में तेज प्रगति की कमी से ना-खुश है और एक बड़ा हिस्सा अभी भी अपने सुधारों से लाभान्वित नहीं हुआ है।

इतिहास

भारत को कभी सोने की चिड़िया कहा जाता था। आर्थिक इतिहासकार एंगस मैडिसन के अनुसार, पहली शताब्दी से लेकर दसवीं शताब्दी तक भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था थी। पहली सदी में भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) दुनिया के कुल जीडीपी का 32.9% था; 2000 में, यह 28.9% था; और 1800 में यह 24.4% था।

ब्रिटिश काल के दौरान, भारत की अर्थव्यवस्था का अत्यधिक शोषण और शोषण किया गया था, जिसके कारण 1947 में, स्वतंत्रता के समय के दौरान, भारतीय अर्थव्यवस्था अपने सुनहरे इतिहास का केवल एक खंडहर बनकर रह गई।

स्वतंत्रता के बाद से, भारत समाजवादी व्यवस्था की ओर बढ़ा है। सार्वजनिक उद्योगों और केंद्रीय योजना को प्रोत्साहित किया गया। यह प्रणाली सोवियत संघ के साथ भारत में बीसवीं सदी के अंत में आई थी। 1991 में, भारत को एक गंभीर आर्थिक संकट का सामना करना पड़ा, जिसके कारण भारत को अपना सोना गिरवी रखना पड़ा। उसके बाद, नरसिम्हा राव की सरकार ने वित्त मंत्री मनमोहन सिंह के निर्देशन में आर्थिक सुधारों के लिए एक लंबा अभियान शुरू किया, जिसके बाद भारत धीरे-धीरे विदेशी पूंजी निवेश का आकर्षण बन गया और संयुक्त राज्य अमेरिका भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार बन गया। 1919 से भारतीय अर्थव्यवस्था में समेकन का दौर शुरू हुआ। तब से, भारत ने प्रति वर्ष 8% से अधिक की वृद्धि दर्ज की है। अप्रत्याशित रूप से, वर्ष 2003 में, भारत ने 6.4 प्रतिशत की विकास दर हासिल की, जिसे विश्व अर्थव्यवस्था में सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था का संकेत माना जाता था। यही नहीं, 2005-06 और 2007-08 के बीच लगातार तीन वर्षों तक, 9 प्रतिशत से अधिक की अभूतपूर्व वृद्धि दर हासिल की गई। कुल मिलाकर, भारत की वार्षिक वृद्धि दर 2004-05 से 2011-12 के दौरान 8.3 प्रतिशत रही, लेकिन वैश्विक मंदी के कारण 2012-13 और 2013-14 में यह औसत 4.6 प्रतिशत पर पहुंच गई। लगातार दो वर्षों के लिए 5 प्रतिशत से कम की जीएसडीपी वृद्धि दर 25 साल पहले 1986-87 और 1987-88 में देखी गई थी।

2018 के अनुसार भारत का कुल सकल घरेलू उत्पाद (GDP of India 2018) 2.948 ट्रीलियन डॉलर हो गया है। क्रय मूल्य शक्ति (PPP) के अनुसार भारत विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।

कुल सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के अनुसार आज भारत अमेरिका, चीन, जापान, जर्मनी और ब्रिटेन के बाद दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। इसमें फ्रांस जैसे शक्तिशाली देश को पीछे छोड़ दिया है।

विकासशील देशों में भारत सबसे तेजी से विकास कर रहा है। यहां की अर्थव्यवस्था उभरती हुई अर्थव्यवस्था कही जाती है क्योंकि अभी यहां पर बहुत ही संभावनाएं बाकी हैं। भारत की अर्थव्यवस्था अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस चीन जैसी बड़ी अर्थव्यवस्थाओं को टक्कर देती है।

भारतीय अर्थव्यवस्था की विशेषताएं (Features of Indian Economy)

भारत एक मिश्रित अर्थव्यवस्था है ( India’s mixed economy)

भारत की अर्थव्यवस्था को मिश्रित अर्थव्यवस्था कहा जाता है। यहां सार्वजनिक और निजी दोनों ही प्रकार के उद्योग धंधे साथ में काम करते हैं। 1991 में देश में उदारीकरण किया गया है। विदेशी कंपनियों के लिए देश में फ़ैक्टरी, उद्योग, धंधे लगाने का दरवाज़ा खोला गया है।

उसके बाद से देश में निजी सेक्टर बहुत तेजी से विकसित हो रहा है। कुछ बुनियादी चीजों जैसे रेलवे, हवाई जहाज़, सैन्य हथियारों का निर्माण, रक्षा क्षेत्र से संबंधित उद्योगों में सरकारी सेक्टर को प्राथमिकता दी गई है।

विदेशी मुद्रा भंडार

मार्च 201 तक भारतीय विदेशी मुद्रा भंडार  414 बिलियन अमेरिकी डॉलर था। अमेरिकी डॉलर की कीमत  71 रुपये के स्तर पर पहुंच गई 

भारत की अर्थव्यवस्था में कृषि का योगदान ( Role of Agriculture in Indian Economy)

भारत की 70% आबादी गांव में निवास करती है जो कृषि का काम करती है। भारत की अर्थव्यवस्था पर कृषि का प्रभाव प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष दोनों तरह से पड़ता है। सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का 30% कृषि क्षेत्र से ही प्राप्त होता है। कृषि को देश की रीढ़ भी कहा जाता है। भारत में कृषि के अंतर्गत फल, अनाज, सब्जियों के साथ पशु-पालन के उद्योग धंधे भी आते हैं।

नई अर्थव्यवस्था (कृषि और औद्योगिक क्षेत्रों के बीच बेहतर असंतुलन)

भारत की अर्थव्यवस्था की बड़ी विशेषता है कि यहां कृषि और औद्योगिक क्षेत्रों के बीच बेहतर संतुलन देखने को मिलता है।

एक उभरती हुई अर्थव्यवस्था ( Growing Indian Economy )

भारत की अर्थव्यवस्था को उभरती हुई अर्थव्यवस्था कहते हैं क्योंकि अभी यहां बहुत सारे सेक्टर का विकास होना बाकी है। इसलिए यहां बहुत अधिक संभावनाएं हैं। जबकि विकसित देशों में विकास पूरा हो चुका है और नए विकास की कोई संभावना नहीं है।

2018 के अनुसार भारतीय अर्थव्यवस्था का सकल घरेलू उत्पाद विकास प्रतिशत (Indian Economy growth rate 2018) 7.3% था। जो विश्व के अन्य देशों की तुलना में काफी अच्छा रहा है। इससे यह संकेत मिलता है कि भविष्य में भारत की अर्थव्यवस्था बहुत आगे जाएगी।

भारत की अर्थव्यवस्था में तकनीकी का कम उपयोग

देश की अर्थव्यवस्था में तकनीकी का उपयोग कम मात्रा में हो रहा है। मानव जनित श्रम का इस्तेमाल अधिक हो रहा है जिससे वस्तुओं की लागत बढ़ जाती है। विश्व की दूसरी विकसित अर्थव्यवस्थाओं जैसे अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, चीन में तकनीक का इस्तेमाल बढ़-चढ़कर किया जाता है। भारत को यदि विश्व में सर्वोच्च स्थान पाना है तो तकनीकी का उपयोग उद्योग धंधों और कृषि में बढ़ाना होगा।

असमान धन वितरण ( Income inequality in India )

भारत की अर्थव्यवस्था में धन वितरण में असमानता देखने को मिलती है। अमीर और गरीब के बीच बड़ी खाई है। देश में मुट्ठी भर लोगों के पास बड़ी मात्रा में धन है, परंतु बाकी जनता गरीबी की समस्या से जूझ रही है। अमीर लोग और अमीर बनते जा रहे हैं। गरीब और गरीब होता जा रहा है। भारत के 1% जनसंख्या के पास देश का 53% धन है।

बड़ी जनसंख्या ( India’s population )

2018 के अनुसार भारत की आबादी 135 करोड़ से अधिक हो चुकी है। भारत की अर्थव्यवस्था की सबसे बड़ी विशेषता है कि यहां पर बड़ी मात्रा में आबादी है।  जनसंख्या के मामले में भारत चीन के बाद दूसरा बड़ा देश है। बड़ी मात्रा में लोगों को रोज़गार देना एक बड़ी चुनौती है। बड़ी जनसंख्या के कारण गरीबी में भी बढ़ोतरी हो रही है।

यदि भारत अपने संसाधनों को सही तरह से इस्तेमाल करें तो यह विश्व में महाशक्ति बन सकता है। देश की जनसंख्या की वृद्धि दर india population growth rate 2018 के अनुसार 1.11% है।

स्थिर मैक्रो अर्थव्यवस्था

भारत की अर्थव्यवस्था को दुनिया भर में सबसे स्थिर मैक्रो अर्थव्यवस्था माना जाता है। भारत में कारोबार और व्यापार की अच्छी संभावनाएं हैं जिससे बाहरी देश आकर यहां उद्योग धंधे स्थापित कर रहे हैं।  भारत का सकल घरेलू उत्पाद वृद्धि दर ( India GDP growth rate 2018) 7.3% है.

शहरी क्षेत्रों में तेजी से वृद्धि

भारत की अर्थव्यवस्था की बड़ी विशेषता है कि यहां पर शहरी क्षेत्र तेजी से बढ़ रहे हैं जिसके कारण हर साल नए उद्योग धंधे स्थापित हो रहे हैं। विकास को गति मिल रही है।

रोज़गार के अपर्याप्त अवसर ( Unemployment in India )

भारत की अर्थव्यवस्था में बेरोज़गारी एक बड़ी समस्या है। देश में 135 करोड़ की आबादी है जिसमें 60% आबादी युवा है और काम करने के योग्य है। पर इसके बावजूद देश में बड़ी मात्रा में बेरोज़गारी है। 2017 में भारत में बेरोज़गारी (unemployment in india 2017) 1.77 करोड़ थी।

बुनियादी ढांचे का अभाव ( Challenges of infrastructure in India )

भारत की अर्थव्यवस्था में बुनियादी ढांचे का अभाव है। पिछले कुछ वर्षों में तेजी से इसमें सुधार किया गया है, पर अभी भी बहुत से क्षेत्रों में बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर मौजूद नहीं है। भारत को यदि विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनना है तो बुनियादी ढांचे में सुधार करना होगा। देश के बहुत से हिस्सों में बिजली, पानी, सड़क, सीजर, यातायात के संसाधन, शौचालाय, घर जैसी बुनियादी सुविधाओं का अभाव है।

मूल्य अस्थिरता ( Inflation in India )

देश में वस्तुओं के मूल्य में अस्थिरता है। आए दिन मूल्य घटता बढ़ता रहता है। मुद्रास्फ़ीति के कारण वस्तुएँ महंगी हो रही है।

तेजी से बढ़ता सेवा क्षेत्र ( Growth of Indian service sector )

भारत में सेवा क्षेत्र तेजी से बढ़ रहा है। बीपीओ (B.P.O), सूचना प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग, मेडिकल, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर निर्माण जैसे क्षेत्रों में तेजी से विकास हो रहा है। भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 7.7% का योगदान सेवा क्षेत्र का है।

प्राकृतिक संसाधनों का सही इस्तेमाल नहीं हो पाया है ( Under-utilization of natural resources )

भारत एक विशाल देश है जहां सभी तरह के प्राकृतिक संसाधन जैसे- ज़मीन, पानी, खनिज, वन, पेट्रोल, पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। पर इन सभी संसाधनों का सही तरह से इस्तेमाल नहीं हो पाया है।

Friends, if you need an eBook related to any topic. Or if you want any information about any exam, please comment on it. Share this post with your friends on social media. To get daily information about our post please like my Facebook page. You can also join our Facebook group.

ज़रुर पढ़ें :– दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप नीचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार ki help चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे.

Disclaimer: Sarkari Naukri pdf does not own this book, neither created nor scanned. We just provide the link already available on the internet. If any way it violates the law or has any issues then kindly mail us: sarkarinaukripdf@gmail.com
Sunday, September 01, 2019

भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian economy) in Hindi PDF

भारतीय अर्थव्यवस्था (indian economy) in hindi pdf

Dear Friends, आज के अपने इस लेख में मैं आपको भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian economy) in Hindi PDF उपलब्ध करवाने जा रहा हूँ| यह PDF प्रतियोगिता परीक्षा को crack करने में आप सभी students के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साबित हो सकती है| वैसे भी अभ्यर्थियों के लिए यह चुनाव करना बहुत मुश्किल रहता है कि सबसे बढ़िया study PDF या materials उन्हें कहा से प्राप्त हो सकता है तो हमारा इस वेबसाइट बनाने का मुख्य उद्देश्य ही आप सभी को best study PDF/materials उपलब्ध करवाना है |

इस पोस्ट में हम आपको भारतीय अर्थव्यवस्था ( Indian economy ) विषय से संबंधित सभी प्रकार की PDF को Download करने की Link उपलब्ध कराऐंगे ! जिन पर क्लिक करके आप इनको Download कर पाएँगे|

अभी हमारे पास भारतीय अर्थव्यवस्था ( Indian economy ) विषय से सन्बन्धित जितनी PDF हैं वो इस पोस्ट मे हम आपको उपलब्ध करा रहे है और आगे जितनी भी भारतीय अर्थव्यवस्था ( Indian economy ) विषय से सन्बन्धित PDF हमारे पास आयेगी उनकी लिंक भी इसी पोस्ट में Add की जायेगी |

आप नीचे दी हुई Link पर Click करके भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian economy) in Hindi PDF Download कर सकते हैं |

भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian economy) in Hindi PDF free download
Friends, if you need an eBook related to any topic. Or if you want any information about any exam, please comment on it. Share this post with your friends on social media. To get daily information about our post please like my Facebook page. You can also join our Facebook group.

ज़रुर पढ़ें :– दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप नीचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार ki help चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे.

Disclaimer: Sarkari Naukri pdf does not own this book, neither created nor scanned. We just provide the link already available on the internet. If any way it violates the law or has any issues then kindly mail us: sarkarinaukripdf@gmail.com